news21cg

Shiv Sena Crisis

Shiv Sena Crisis :  जहां एक ओर शिवसेना (Shiv Sena) में बगावत से शिवसैनिक (Shiv Sainiks) परेशान हैं, वहीं कल्याण (Kalyan) के शिवसैनिकों ने मुख्य शाखा में पूजा पर भारी भीड़ जुटाकर (Huge Crowd) अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हुए  बागियों को करारा जवाब दिया है। हर साल 17 जुलाई को शिवसेना वेलफेयर विंग की वर्षगांठ होती है. जयंती के अवसर पर कल्याण पश्चिम  शिवाजी चौक स्थित शिवसेना मुख्यालय में महापूजा होती है.  इस साल शिवसैनिकों ने इस सत्यनारायण पूजा पर भीड़ का रिकॉर्ड तोड़ा.

पिछले 25 सालों में इतनी भीड़ नहीं हुई,जितनी इस पूजा में भीड़ हुई. पूजा के लिए शहर के सभी हिस्सों से शिवसैनिक बड़ी संख्या में आए और शिवाजी चौक में मेले का रूप ले लिया। कल्याण विभाग की युवा सेना के माध्यम से दिग्गज और नव युवक शामिल थे। कई शिवसैनिकों ने एक बार फिर से नए जोश के साथ काम में लग जाने और अपने स्वार्थ के कारण शिवसेना से बाहर गए बागियों को चुनाव में सबक सीखने  की इच्छा व्यक्त की। इस अवसर पर कल्याण शिवसेना के 86 वर्षीय चाचा हरदास, कल्याण के पहले शाखा प्रमुख माधव कर्वे, बाल हरदास, भाई दीक्षित, तुषार राजे, प्रो. उदय सामंत, पूर्व महापौर रमेश जाधव, चंद्रशेखर देशपांडे और कई दिग्गजों के साथ-साथ नए  शिवसैनिक भी मौजूद थे।

शिंदे गुट के साथ गए कुछ नगरसेवक भी थे मौजूद

नवनियुक्त शहर प्रमुख सचिन बासरे, महानगर प्रमुख विजय साल्वी, रवि कपोटे, उपनेता अल्ताफ शेख, भिवंडी लोकसभा संपर्क प्रमुख रूपेश म्हात्रे, महिला अघाड़ी प्रमुख विजया पोटे, राधिका गुप्ते, आशा रसाल, रेखा जाधव आदि सहित भारी संख्या में शिवसेना पदाधिकारी और शिवसैनिक उपस्थित थे।  विशेष रूप से शिंदे समूह के साथ गए कुछ नगरसेवक भी मौजूद थे। चर्चा थी कि पिछले पच्चीस साल बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में कल्याण शिवसेना की वर्षगांठ मनाई गई। एक तरह से इस समय बागियों को करारा जवाब देने का भाव भी व्यक्त किया गया।

%d bloggers like this: