news21cg

सीएम एकनाथ शिंदे ने संजय राउत पर साधा निशाना, कहा: ईडी की डर से शिवसेना-बीजेपी में शामिल होकर पुण्य का काम ना करें

राज्य के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) ने शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) के घर पर ईडी (ED) की जारी कार्रवाई (Action) पर तंज कसते हुए कहा कि जिसने गलत काम नहीं किया, उसे डरने की क्या जरुरत?। जो लोग ईडी की डर से शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP)  में आने के फिराक में है, उन पर शिंदे ने कहा कि हम किसी को भी  दबाव डालकर पार्टी में नहीं लाना चाहते। कोई भी पुण्य यह काम ना करें।

सीएम एकनाथ शिंदे ने विभागीय आयुक्त कार्यालय में मराठवाड़ा की फसलों, बारिश का प्रमाण के अलावा अन्य विकास कार्यों का आला अधिकारियों के साथ बैठक में जायजा लिया। उसके बाद आयोजितप्रेस वार्ता में उन्होंने पत्रकारों द्वारा शिवसेना नेता संजय राउत के घर ईडी के पड़े छापे पर पूछे गए सवाल पर उक्त जवाब दिया। ईडी द्वारा संजय राउत की जा रही जांच पर शिंदे ने फिर एक बार उन पर तंज कसते हुए कहा कि वे महाविकास आघाड़ी सरकार के मुख्य नेता है। अगर उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है तो जांच होनी दीजिए। सब कुछ सामने आएगा। जिन्होंने गलत नहीं किया, उन्हें डरने की जरुरत ही नहीं है। शिंदे ने ईडी कार्रवाइयों को जायजा ठहराते हुए कहा कि बदले की भावना से ईडी की कार्रवाइयां करने की जरुरत क्यों है?। कौन से सांसद और विधायक को ईडी की नोटिस आयी है। यह दिखा दे। ईडी ने जिन लोगों पर पहले कार्रवाइयां की है। उन्हें न्यायालय से राहत नहीं मिल पाई है। अगर ईडी की कार्रवाई गलत होती को न्यायालय से उन्हें राहत मिलती।

जल्द होगा मंत्रिमंडल विस्तार पर फैसला

जब उनसे राज्य मंत्रिमंडल के विस्तार पर हो रही देरी और  देर रात उनके दिल्ली दौरे पर पूछे गए प्रशन पर  शिंदे ने कहा कि वैसे जबसे हमारी सरकार का गठन हुआ, तबसे मैं और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस बेहतर निर्णय ले रहे है। मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होना तय है। शिंदे ने बताया कि हमने सरकार स्थापित करते ही किसानों और आम जनता के हित में कई निर्णय लिए है। हमने जनता के हित में पेट्रोल और डिजल पर लगने वाले कर से नागरिकों को राहत दी। किसानों को 50 हजार देने का निर्णय लिया। इन निर्णयों से राज्य की जनता को बड़े पैमाने पर राहत मिलने का दावा सीएम एकनाथ शिंदे ने किया।

निधि की कमी न होने का मोदी और शाह ने दिया आश्वासन

सीएम शिंदे ने बताया कि राज्य के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने किसी प्रकार की निधि की कमी न होने देने का आश्वासन दिया है। केंद्र से मिले निधि का बेहतर उपयोग राज्य के विकास के लिया जाएगा। राज्य में बेहतर क्वालिटी की सडकों का निर्माण करने का बीड़ा राज्य सरकार ने उठाया है। उसके तहत पहले चरण में मुंबई में क्वालिटी सड़के बनायी जाएगी। उसमें किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। आगामी डेढ़ से दो सालों में मुंबई की हर सड़क बेहतर क्वालिटी वाले सीमेंट क्रॉकटीकरण की होगी। उसी तरह की सड़के राज्य के अन्य शहरों और ग्रामीण क्षेत्र में बनायी जाएगी। फर्जी काम कर सड़कों पर बार-बार गड्डे निर्माण करने वाले ठेकेदारों को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम शिंदे ने विश्वास जताया कि चरण-चरण में बेहतर काम पूरे राज्य में किए जाएंगे।

किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए उठाए जाएंगे कड़े कदम

मराठवाड़ा में किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए सरकार द्वारा जो जरुरी हर कदम उठाए जाएंगे। इस क्षेत्र में बार-बार सूखा पड़ने से किसान मजबूर होकर आत्महत्या करते है। इस पर रोक लगाने के लिए समंदर से बहने वाला पानी मराठवाड़ा में टर्न करने का काम किया जाएगा। कोकण परिसर से बड़े पैमाने पर  समंदर में जाया जाने वाला पानी मराठवाड़ा में टर्न किया गया तो इसका फायदा मराठवाड़ा को होकर पौने चार लाख हेक्टेयर जमीन गिली होगी। बल्कि, सूखे से मराठवाड़ा के किसानों को बड़े पैमाने पर राहत मिलेगी। इस निर्णय से किसानों के आत्महत्याओं पर रोक लगने का विश्वास भी सीएम शिंदे ने जताया।

पुरानी पाइप लाइन बदलने 200 करोड़ राशि देने की घोषणा

सीएम शिंदे ने शहर में निर्माण पेयजल आपूर्ति की समस्याओं से नागरिकों को राहत पहुंचाने के लिए विभागीय आयुक्त सुनील केन्द्रेकर द्वारा शहर को पेयजल आपूर्ति करने वाली पुरानी पाइप लाइन बदलने के हेतु सरकार के पास 200 करोड़ के प्रस्ताव को मंजूर करने की घोषणा करते हुए सीएम शिंदे ने बताया कि  पाइप लाइन बदलने के लिए तत्काल यह निधि उपलब्ध कराया जाएगा। सीएम शिंदे ने बताया कि मैंने मराठवाड़ा के विकास के लिए विभागीय आयुक्त को शॉर्ट टर्म और लॉंग टर्म के सारे प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए है। बैठक में शहर से सटे एलोरा में स्थित घृष्णेश्वर मंदिर के विकास कार्यों, औंढा नागनाथ मंदिर परिसर के विकास के लिए निधि उपलब्ध कराने के साथ ही शहर में निर्माण हो रहे बाल ठाकरे स्मारक और स्मृति वन के कार्य का जायजा लेने की जानकारी शिंदे ने दी। उन्होंने औरंगाबाद में जल्द ही क्रीडा विश्वविद्यालय स्थापित करने की घोषणा भी की। शिंदे ने बार-बार मराठवाड़ा के किसानों की आत्महत्याएं रोकने के लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जाने पर जोर दिया। प्रेस वार्ता में केंद्रीय रेल राज्यमंत्री रावसाहाब दानवे, केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड, पूर्व शिवसेना नेता रामदास कदम, पूर्व मंत्री अब्दुल सत्तार के अलावा संभाग के सभी आला अधिकारी उपस्थित थे।

%d bloggers like this: