news21cg

 

Photo Credit tiwtter-ANI

Presidential Election 2022 : उत्तर प्रदेश के राजनीती में एक बार काफी उथल-पुथल देखि जा रही है। विपक्षी सपा पार्टी के अपने दिग्गज नेता अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से बगावत पर आ गये हैं। राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) के भोज में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक शिवपाल यादव सम्मलित होकर सपा के खिलाफ प्रत्याशी का सपोर्ट कर रहें हैं। शिवपाल यादव ने कहा कि, कल मुझे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलाया तो मैं वहां गया द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात हुई। मैं मुख्यमंत्री जी से मिला उन्होंने मुझसे अच्छे तरीके से बात की।

शिवपाल यादव ने कहा कि, हमें समाजवादी पार्टी की तरफ से कभी भी किसी भी मीटिंग में हमें नहीं बुलाया गया, परसों भी यशवंत सिन्हा यहां थे लेकिन नहीं बुलाया गया। राजनैतिक अपरिपक्वता की कमी होने के कारण ये सब होता चला जा रहा है और पार्टी कमजोर हो रही है, लोग पार्टी छोड़ रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि, आगे अपनी नाराजगी जताते हुए कहा कि, जब मैंने समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ा और जीता तो हमसे भी राय लेनी चाहिए। अगर मेरा सुझाव माना गया होता और उन 100 प्रत्याशियों को टिकट दिया गया होता जिनका सुझाव हमने एक साल पहले दिया था तो आज समाजवादी पार्टी की स्थिति कुछ और होती।

शिवपाल यादव ने कहा कि, मैंने बहुत पहले कहा था जहां हमें बुलाया जाएगा, जो हमसे वोट मांगेगा हम उसे वोट देंगे। इससे पहले भी राष्ट्रपति के चुनाव हुए थे तो न तो हमें समाजवादी पार्टी ने बुलाया और न ही वोट मांगा। उस समय रामनाथ कोविंद जी ने वोट मांगा तो हमने दिया था।