news21cg

Play Store : कुछ मैलवेयर-लोडेड ऐप्स ने Google Play Store पर अपनी जगह बना ली है, जिससे जोकर मालवेयर प्ले स्टोर पर वापस आ गया है. इतना ही नहीं कई लोगों ने उन्हें डाउनलोड भी कर लिया है. इस मालवेयर का पहली बार 2017 में पता चला था और एंड्रॉयड उपयोगकर्ताओं के फोन को हाईजैक करने के लिए साइबर अपराधियों की सबसे लोकप्रिय पसंद बन गया था.

साइबर सुरक्षा रिसर्चर ने बार-बार जोकर मालवेयर के बारे में चेतावनी दी है. यह स्पाइवेयर हैकर्स को फोन पर अटैक करने और उन पर खतरनाक मालवेयर इनस्टॉल करने की अनुमति देता है. जैसे ही मालवेयर वापस आ. उसे कुछ Google Play Store ऐप्स पर देखा गया. साइबर सिक्योरिटी रिसर्च फर्म प्रेडियो ने इस जोकर मालवेयर को Google Play Store पर चार ऐप में सर्च किया है. इन ऐप्स में स्मार्ट SMS मैसेज, ब्लड प्रेशर मॉनिटर, वॉयस लैंग्वेज ट्रांसलेटर, और क्विक टेक्स्ट SMS शामिल हैं.

क्या Android यूजर्स के चिंता करने की जरूरत है?
रिसर्च टीम ने गूगल को इसकी जानकारी दे दी है, जिसके बाद गूगल ने इन ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है, लेकिन ऐप को हटाने से पहले ही इसे 1 लाख से अधिक लोगों ने डाउनलोड कर लिया था. इसका मतलब है कि कई यूजर्स पहले से ही खतरे में हैं. जोकर मालवेयर का इस्तेमाल शुरुआती चरण में SMS से जुड़ी धोखाधड़ी को अंजाम देने के लिए किया गया था, लेकिन समय के साथ, यह पीड़ितों के डिवाइसों पर अटैक करने के लिए डेवलप किया गया है.

कितना खतरनाक है मालवेयर
जोकर मालवेयर की मदद से हैकर्स वन-टाइम पासवर्ड और सुरक्षा कोड को इंटरसेप्ट कर सकते हैं और आपके नोटिफिकेशन पढ़ सकते हैं, बिना कोई निशान छोड़े स्क्रीनशॉट ले सकते हैं, एसएमएस संदेश भेज और पढ़ सकते हैं और यहां तक कि कॉल भी कर सकते हैं. यह मालवेयर आपके डिवाइस पर लगभग सब कुछ करने में सक्षम है.

एंड्रॉयड यूजर्स को क्या करना चाहिए?
सभी Android यूजर्स को डाउनलोड की गई एप्लिकेशन सूची पर नजर रखनी चाहिए. यदि उनके पास इनमें से कोई भी ऐप है, तो रिसर्चर का सुझाव है कि इन्हें अभी अनइंस्टॉल कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि ये ऐप हैकर्स के लिए एंड्रॉयड स्मार्टफोन या अन्य डिवाइसों को इंफेक्टेड करने के सभी रास्ते खोल सकता है.

%d bloggers like this: