news21cg

Water Crisis, Water Supply

PCMC : पानी आपूर्ति (Water Supply) की बढ़ती शिकायतों को देखते हुए अवैध नल कनेक्शनों ( Illegal Tap Connections) को नियमित करने के लिए पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका प्रशासन (Pimpri-Chinchwad Municipal Administration)द्वारा चलाए गए विशेष अभियान (Special Campaign) के तहत 1,019 लोगों के नल कनेक्शन (Tap Connections) को नियमित करने के लिए आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसमें सबसे ज्यादा 260 आवेदन महानगरपालिका के बी क्षेत्रीय कार्यालय, 238 आवेदन एच क्षेत्रीय कार्यालय से और सबसे कम 56 आवेदन ई क्षेत्रीय कार्यालय परिक्षेत्र से आए हैं।

शहर में 5 लाख 77 हजार संपत्तियां महानगरपालिका के कर संग्रह विभाग के पास दर्ज है। हालांकि इसकी तुलना में अधिकृत नल धारकों की संख्या कम है। शहर में अवैध नल धारकों की संख्या हजारों में है। गलत तरीके से जुड़े नलों से पानी का रिसाव होता है। साथ ही दूषित पानी की आपूर्ति भी हो रही है। इससे पानी की आपूर्ति बाधित हो जाती है। इसके लिए महानगरपालिका समय-समय पर अवैध पानी पाइप के कनेक्शनों का सर्वे करवाता है। अवैध नलों को नियमित करने के लिए रियायतों की घोषणा भी की गई। हालांकि, नागरिकों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

विशेष अभियान चलाया गया

शहर में पिछले कुछ दिनों से जलापूर्ति ठप है।  साथ ही जलापूर्ति विभाग की आय भी काफी कम है। इसलिए अवैध नल कनेक्शनों को नियमित करने के लिए महानगरपालिका की ओर से विशेष अभियान चलाया गया। इस अभियान को सकारात्मक प्रतिक्रिया देने के लिए घरेलू उपभोक्ताओं से जमा और जुर्माने के रूप में केवल 5 हजार रुपए वसूलने की घोषणा की गई। इन ग्राहकों को पानी के बिल के बकाया के साथ अतिरिक्त मासिक शुल्क माफ करने के लिए एक नीति भी तैयार की गई थी। इस छूट योजना का लाभ उठाने के लिए ग्राहकों को 15 दिनों की छूट दी गई थी। इस योजना के बारे में सभी आठ क्षेत्रीय कार्यालय क्षेत्रों में जन जागरुकता पैदा की गई। हालांकि अवैध नल कनेक्शन को अधिकृत करने के लिए 1,019 नागरिकों ने आवेदन किया है। अवैध नल कनेक्शनों को अधिकृत करने के लिए नागरिकों की ओर से बहुत कम प्रतिक्रिया मिली है।

%d bloggers like this: