news21cg

Koffee with Karan 7 : करण जौहर (Karan Johar) ने जब अपने लोकप्रिय सेलिब्रिटी चैट शो ‘कॉफी विद करण’ के पिछले एपिसोड के वीडियो साझा किए, तो कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने सोचा कि उन्होंने अभी तक उस वीडियो से कोई क्लिपिंग क्यों साझा नहीं की, जिसमें उन्हें दिखाया गया था. उन्होंने खुद ही इस सवाल का तीखा जवाब दिया.

करण के शो में दिखाए गए अपने एपिसोड का एक स्क्रीनशॉट साझा करते हुए, कंगना ने गुरुवार दोपहर इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘पापा जो ‘कॉफी विद करण’ के सभी चर्चित एपिसोड का प्रचार कर रहे हैं, क्योंकि यह आज ओटीटी पर प्रीमियर होने जा रहा है. पापा जो को शुभकामनाएं, लेकिन इस एपिसोड का क्या? ओह माफ करना…सर्जिकल स्ट्राइक, घर में घुस के मारा था न.’

‘कॉफी विद करण’ के सीजन 5 में दिखी थीं कंगना रनौत
कंगना आगे कहती हैं, ‘मेरा एपिसोड उनके शो का सबसे लोकप्रिय एपिसोड है…’ उन्होंने एक लेख का स्क्रीनशॉट साझा किया, जिसमें करण को यह कहते हुए दिखाया गया है कि वे शापित हैं और नेपोटिज्म के चलते ट्रोल होते हैं. कंगना ने स्क्रीनशॉट साझा किया और अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा, ‘मैंने उन्हें उनके सभी कामों से ज्यादा लोकप्रिय बनाया है.’ कंगना रनौत 2017 में ‘कॉफी विद करण’ के पांचवें सीजन में दिखाई दी थीं और उन्होंने करण पर तब नेपोटिज्म का आरोप लगाया था. उनके साथ उनके को-एक्टर सैफ अली खान और शाहिद कपूर भी थे. वे अपनी फिल्म ‘रंगून’ का प्रचार कर रहे थे.

कंगना रनौत ने जब करण जौहर को कहा था फिल्म माफिया
कंगना से जब करण ने उस व्यक्ति का नाम पूछा, जो उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में बेवजह एटिट्यूड दिखाते हैं, तो उन्होंने ‘कॉफी विद करण’ पर कहा, ‘मुझे लगता है कि आप ही वह व्यक्ति हैं करण. अगर मेरी कभी बायोपिक बनती है, तो आप बॉलीवुड बिगी का रोल निभाएंगे जो बाहरी लोगों को नहीं सहते हैं, नेपोटिज्म को बढ़ावा देते हैं और फिल्म माफिया हैं.’

Koffee with Karan 7, Kangana Ranaut, Karan Johar, Kangana Ranaut Koffee with Karan Johar, कंगना रनौत, कंगना रनौत करण जौहर
 

‘कॉफी विद करण’ की आलोचना पर बोले करण जौहर
चैट शो ‘कॉफी विद करण’ के सीजन 7 का प्रीमियर ‘डिज्नी प्लस हॉटस्टार’ पर गुरुवार को होगा. करण ने अपने शो के प्रति लोगों की नफरत को लेकर पीटीआई से कहा था, ‘आप केवल तभी नफरत कर सकते हैं, जब आप खुद में दुखी महसूस कर रहे हों या आप नफरत करने वाले हों. आप बॉलीवुड समेत हर चीज से नफरत कर सकते हैं. नफरत एक वास्तविक भावना नहीं है, यह सिर्फ लोगों की हताशा और गुस्से के कारण जाहिर हो रहा है.’

%d bloggers like this: