news21cg

KDMC क्षेत्र में जानलेवा हुए सड़क के गड्ढे, एक युवक की मौत

KDMC : कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका क्षेत्र (Kalyan Dombivli Municipal Corporation Area) में सड़कों (Roads) के गड्ढे (Potholes) जानलेवा हो गए हैं। सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे होने से एक युवक की मौत हो गई। दो बुजुर्ग घायल हो गए, गड्ढों से वाहन चालक समेत नागरिक भारी परेशान हैं। कल्याण पूर्व के अढावली-ढोकली क्षेत्र में पूर्व नगरसेवक कुणाल पाटिल के नेतृत्व में नागरिक गड्ढों के विरोध में धरना प्रदर्शन करने सड़कों पर उतरे, लेकिन महानगरपालिका प्रशासन द्वारा समय पर गड्ढों को भरने का लिखित अस्वासन दिए जाने के बाद धरना रोक दिया गया हैं। लेकिन नागरिकों महानगरपालिका प्रशासन के प्रति भारी रोष व्याप्त हैं।

सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं

कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका प्रशासन हर साल मानसून से पहले गड्ढों को भरने के लिए करोड़ों रुपय खर्च करता है। इस साल भी केडीएमसी प्रशासन ने मानसून से पहले गड्ढों को भरने के लिए 15 करोड़ 15 लाख रुपय आवंटित किए हैं। लेकिन कल्याण डोंबिवली में सड़क पर जगह-जगह गड्ढे बने हुए हैं।   सड़क गड्ढों में तब्दील हो गई हैं, जिससे वाहन चालकों के साथ नागरिकों को काफी परेशानी हो रही है 6 जुलाई को कल्याण पश्चिम के तिलक चौक इलाके में गड्ढे की बजह से दो बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। दोनों के हाथ में चोट आई है और दो दिन पूर्व अंबरनाथ निवासी युवक अंकित थाइवा नवी मुंबई के घनसोली में काम करने के लिए जा रहा था। तभी काटई-बदलापुर रोड पर खोनी गांव के पास उसकी बाइक गड्ढे जाने से लड़खड़ा गई और अंकित सड़क पर गिर गया। पीछे से आ रही केडीएमसी परिवहन की बस ने उसे कुचल दिया, इस हादसे में अंकित की दुर्भाग्य से मौत हो गई।

इसके बाद कल्याण डोंबिवली में नागरिकों में गुस्से की लहर फैल गई है। नागरिक प्रशासन के खिलाफ आक्रामक होते नजर आ रहे हैं। पिछले कुछ वर्षों में कल्याण पूर्व के अढ़ावली-ढोकाली और द्वारली क्षेत्र में सड़क के गड्ढों के कारण कई लोगों की जान जा चुकी है। ऐसा दोबारा न हो इसके लिए पूर्व पार्षद कुणाल पाटिल के नेतृत्व में स्थानीय नागरिकों ने सड़क पर उतर कर धरना-प्रदर्शन शुरू लेकिन महानगरपालिका प्रशासन द्वारा शीघ्र सड़क के गढ्ढों को भर दिए जाने का आश्वासन दिए जाने के बाद धरना-प्रदर्शन स्थगित कर दिया गया।

%d bloggers like this: