news21cg

potholes Bhiwandi

 मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Chief Minister Eknath Shinde) के आदेश को गंभीरता से लेते हुए भिवंडी महानगरपालिका (Bhiwandi Municipal Corporation) सड़कों के गड्ढों (Potholes) को तेजी से मरम्मत करने में जुटी है। महानगरपालिका कमिश्नर विजय कुमार म्हसाल के निर्देश पर महानगरपालिका शहर अभियंता एलपी गायकवाड की इंजीनियरों की टीम गड्ढों की मरम्मत में जुटी है। शहर में गड्ढों की मरम्मत के साथ ही भारी भरकम हुए गड्ढों के जरूरी जगहों पर प्योर ब्लॉक भी लगाया जा रहा है। गड्ढों की मरम्मत का कार्य होने से आवागमन में सुविधा होने लगी है।

गौरतलब है कि विगत माह से भारी बरसात होने के कारण पावरलूम नगरी भिवंडी शहर की सड़कों के हालात इतने बदतर हो गए हैं कि यह अंदाजा लगाना मुश्किल है की गड्ढों में सड़क है या सड़कों में गड्ढे हैं। वाहन चालकों सहित नागरिकों का पैदल चलना मुश्किल हो गया है। विगत 4 माह पहले करोड़ों रुपए खर्च करके मरम्मत की गई सड़कें भी पूरी तरह से उखड़ गई है। महानगरपालिका प्रशासन सड़क की मरम्मत कार्य में भी लाखों रुपए खर्च कर रही है, बावजूद गड्ढे खत्म होने की जगह बरसात होते ही फिर दनादन बढ़ते जाते हैं।

सड़कों की दशा बद से बदतर

विगत देवेंद्र फडणवीस सरकार द्वारा भिवंडी में सड़कों की खराब हालात को गंभीरता से लेते हुए सांसद कपिल पाटिल के प्रयासों पर 52 आरसीसी रोड की मंजूरी प्रदान की थी। सरकार द्वारा मंजूर 52 आरसीसी मार्ग में करीब 18 आरसीसी मार्गों का निर्माण हुआ है जिसमें कुछ मार्ग आज भी आधे अधूरे पड़े हैं। पावरलूम नगरी भिवंडी में सिर्फ प्रमुख मार्गों को छोड़कर शहर के सभी मार्ग गड्ढों में तब्दील हो गए हैं। महानगरपालिका कमिश्नर विजय कुमार म्हसाल ने सभी सड़कों पर हुए गड्ढों की मरम्मत का निर्देश शहर अभियंता एल.पी. गायकवाड सहित बांधकाम विभाग को दिया है।  सच्चाई यह है कि भिवंडी की सड़कों पर इतने गड्ढे हैं जिनकी मरम्मत कदापि संभव ही नहीं है। बांधकाम अभियंताओं की टीम बेहतर तरीके से गड्ढों की मरम्मत जरूर कर रही है, लेकिन समूची सड़कें गड्ढों में तब्दील होने की वजह से बरसात होते ही गड्ढे में भरी सामग्री बाहर निकलकर फैल जाती है और गड्ढे जस के तस हो जाते हैं।

इन  मार्गों पर गड्ढों की भरमार

महानगरपालिका क्षेत्र के अंतर्गत तीन बत्ती, मंडई, मंडई से धामणकर नाका, कल्याण रोड से वराल देवी मार्ग, कामतघर,भाग्य नगर, ताडाली, ओसवाल वाड़ी, दरगाह रोड, शांति नगर मार्ग सहित तमाम शहर के संपर्क मार्गों पर भारी बरसात की वजह से गड्ढों की भरमार हो गई है, जिन पर सुरक्षित निकलना बेहद मुश्किल है। महानगरपालिका कमिश्नर विजय म्हसाल गड्ढों की मरम्मत के कार्यों की खुद मॉनिटर कर रहे हैं। बांधकाम विभाग को गड्ढों की मरम्मत का कार्य बेहतर तरीके से किए जाने और जरूरी जगहों पर प्योर ब्लॉक लगाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढें होने की जगहों पर प्योर ब्लॉक लगाकर सड़कों को आवागमन के लिए सुविधाजनक बनाया जा रहा है। कल्याण नाका, वराल देवी मार्ग, हनुमान टेकड़ी रोड, बंजार पट्टी नाका, तीन बत्ती, मंडई, दरगाह रोड आदि कई क्षेत्रों में सड़कों पर हुए भारी गड्ढों की मरम्मत के लिए पेवर ब्लॉक लगाए जाने में भिवंडी में लाखों रुपए खर्च कर रही है।

महानगरपालिका का कार्य सराहनीय

शहर के नागरिकों का कहना है कि महानगरपालिका इस वर्ष बरसात के दौरान गड्ढों की मरम्मत का कार्य बेहतर तरीके से अंजाम दे रही है। गड्ढों की मरम्मत के अथक प्रयास के बाद भी सड़कों का बेस खत्म होने की वजह से गड्ढों की मरम्मत के बाद भी कुछ घंटे बारिश होने पर गड्ढों में डाली गई सामग्री उखड़ कर बाहर आ जाती है। महानगरपालिका प्रशासन द्वारा गड्ढों की मरम्मत को लेकर खर्च की जा रही तमाम राशि बरसात होते ही गड्ढों में बह जाती है।

आरसीसी रोड के निर्माण की मांग

शहर के तमाम नागरिकों ने एकनाथ शिंदे सरकार से भिवंडी शहर में यातायात सुविधा के लिए  आरसीसी मार्ग निर्माण की मांग की है। पावरलूम नगरी में आरसीसी मार्ग निर्माण के उपरांत ही गड्ढों की तकलीफ और भिवंडी शहरवासियों को यातायात जाम की भारी मुसीबत से छुटकारा मिल सकता है। पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार द्वारा मंजूर आरसीसी मार्ग निर्माण के लिए एमएमआरडीए द्वारा जल्द मंजूरी देना बेहद जरूरी है। शहर के नागरिकों ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से भिवंडी शहर के सर्वांगीण विकास और यातायात सुविधा के लिए आरसीसी मार्ग निर्माण की मंजूरी देने की अपील की है।

नागरिकों की आवागमन सुविधा के लिए सड़कों पर हुए तमाम गड्ढों की मरम्मत बेहतर तरीके से की जा रही है। बारिश की वजह से भरे हुए गड्ढे फिर जस के तस हो जाते हैं। बांधकाम विभाग की टीम गड्ढों की मरम्मत के कार्य में जुटी है।

-एल.पी. गायकवाड, शहर अभियंता, भिवंडी महानगरपालिका

%d bloggers like this: