news21cg

 

Photo Credit tiwtter-ANI

Aarey Colony Movement: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की सबसे बड़े जंगल आरे कालोनी के खत्म होने को लेकर चल रहा आंदोलन थमने का नाम नही ले रहा है। इस बीच आरे में मैट्रो कार शेड निर्माण के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को एकबार फिर पूर्व पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे का खुल कर साथ मिला है। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे आरे मेट्रो कार शेड के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन में शामिल हुए हैं।

आदित्य ठाकरे ने मीडिया से कहा कि, ‘मैं यही कहूंगा कि हमसे अगर उन्हें (सीएम एकनाथ शिंदे) कोई गुस्सा या नाराजगी है, तो उसे मुंबई पर न निकाला जाए। आरे की लड़ाई मुंबई की लड़ाई है, ये हमारे देश और राज्य की जान है। यह आंदोलन हमारे जंगल को बचाने की लड़ाई है। जब हमारी सरकार (MVA) सत्ता में थी तब हमने इसी आरे में 808 एकड़ एरिया को जंगल घोषित किया था। आरे के कार शेड को अगर कांजुरमार्ग लेकर गए तो पैसे की भी बचत होगी और जंगल को भी बचाया जा सकेगा।

उन्होंने आगे कहा कि, हमने जंगल के लिए और अपने आदिवासियों की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी है। जब हम सत्ता में थें, तो यहां कोई पेड़ नहीं काटा गया। आज ग्लोबल वार्मिंग को देखते हुए हमें जंगलों और पर्यावरण को संरक्षित करने की आवश्यकता है। मुंबई की जन कही जाने वाली आरे के जंगल को हम सब को बचाने की जरूरत है।