news21cg

भारत ने वेस्टइंडीज को पहले टी20 में बड़ी आसानी से हरा दिया. टीम इंडिया की इस जीत में जिस एक खिलाड़ी का रोल सबसे अहम रहा, वो दिनेश कार्तिक थे. जिस विकेट पर बाकी भारतीय बल्लेबाज रन बनाने में जूझ रहे थे, उसी पर कार्तिक ने तेज रफ्तार बल्लेबाजी कर टीम इंडिया को 190 रन के बड़े स्कोर तक पहुंचाया और जीत की नींव रखी. वो इस मैच में भारत की तरफ से 150 से अधिक की स्ट्राइक रेट से रन बनाने वाले इकलौते बल्लेबाज थे. यह कोई इकलौता मैच नहीं था, जब कार्तिक ने अपनी टीम के लिए मैच फिनिश किया.

इससे पहले, वो आईपीएल 2022 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टी20 सीरीज और अब वेस्टइंडीज में मैच फिनिशर के रोल में खरे उतरे हैं. इसके साथ ही उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप में मैच फिनिशिर की भूमिका निभाने के लिए अपनी दावेदारी और मजबूत कर ली है.

कार्तिक मैच फिनिश करने के मामले में सबपर भारी
जिस उम्र में खिलाड़ी बल्ला टांग देते हैं, कार्तिक ने उस उम्र में टीम इंडिया में कमबैक किया है. वो भी कमाल का. वो बिल्कुल अलग ही अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं. टीम इंडिया में हार्दिक पंड्या और ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ियों को मैच फिनिशर के तौर पर देखा जाता है. लेकिन, 37 साल के कार्तिक बीते कुछ महीनों में मैच फिनिश करने के मामले में इन दोनों क्या, किसी भी भारतीय बल्लेबाज पर भारी पड़े हैं.

डेथ ओवर में 210 की स्ट्राइक रेट से रन बना रहे
आईपीएल 2022 की शुरुआत के बाद से कार्तिक ने टी20 क्रिकेट में डेथ ओवर में 210.91 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं. इस दौरान कम से कम दस पारियां खेलने वालों में सिर्फ टिम डेविड (226.72) और जेम्स नीशम (220.45) का स्ट्राइक रेट कार्तिक से बेहतर है. यानी कार्तिक टी20 क्रिकेट में डेथ ओवर में किसी भी भारतीय बल्लेबाज से बेहतर हैं.

कार्तिक ने बल्लेबाजी में कुछ तकनीकी बदलाव किए
वेस्टइंडीज के खिलाफ अगर पहले टी20 मैच को देखें, तो कंडीशंस और हालात कार्तिक के पक्ष में नहीं थे. वो एक समय 10 गेंद में 14 रन बनाकर खेल रहे थे. उनके बाद भारत के पास बल्लेबाजी में ज्यादा विकल्प नहीं थे. विकेट धीमा था और गेंद रूक कर आ रही थी. लेकिन, कार्तिक रूके नहीं.

जब होल्डर ने यॉर्कर मिस की तो कार्तिक क्रीज के भीतर गए और जोरदार शॉट लगाते हुए गेंद को मिडविकेट बाउंड्री के पार छक्के के लिए भेज दिया. अगली गेंद पर होल्डर राउंड द स्टम्प गेंदबाजी के लिए आए और ऑफ स्टम्प के बाहर गेंद डाली. लेकिन, कार्तिक ने काफी बाहर आकर गेंद को कवर्स के ऊपर से उठाकर चौका जड़ दिया. यह दो शॉट इतना बताने के लिए काफी हैं कि कार्तिक आखिरी के ओवर में किस सोच के साथ बल्लबेाजी कर रहे हैं.

भारतीय पारी के आखिरी ओवर में उन्होंने 2 चौके और 1 छक्का लगाते हुए अपने मैच फिनिशर के रुतबे को और मजबूत किया. उन्होंने इस ओवर में अपने शॉट में और ताकत लाने के लिए एबी डिविलियर्स की तरह हाई बैकलिफ्ट का इस्तेमाल किया.

कार्तिक मैच प्रैक्टिस के लिए 500 किमी दूर भी पहुंच जा रहे
कार्तिक रातों-रात इस अवतार के लिए तैयार नहीं हो गए. इसके लिए उन्होंने काफी मेहनत की है. इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि आईपीएल 2022 से पहले उन्होंने अपने क्लब इंडिया सीमेंट्स की तरफ से एक टी20 मैच खेलने के लिए चेन्नई से 500 किमी दूर की यात्रा की थी. वेस्टइंडीज टूर से पहले भी, कार्तिक को मैच प्रैक्टिस की जरूरत महसूस हुई तो वो तमिलनाडु प्रीमियर लीग की अपनी टीम तिरुपुर तमिजंस की तरफ से खेलने के लिए कोयंबटूर पहुंच गए. वो अपनी तैयारियों का टीम इंडिया के लिए बेहतर इस्तेमाल कर रहे हैं और 37 साल की उम्र में बार-बार लोगों को गलत साबित कर रहे.

बैटिंग ऑर्डर में भी बार-बार बदलाव हो रहा
इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने इतनी दमदार वापसी की है कि अब भारतीय टीम मैनेजमेंट मैच फिनिशर के रूप में कार्तिक को खिलाने के लिए बैटिंग ऑर्डर में बदलाव करने से भी पीछे नहीं हट रहा. वो जिस तरह से खेल रहे हैं, ऐसे में अगर टी20 विश्व कप के दौरान टीम इंडिया के प्लेइंग-XI में नजर आएं तो शायद ही किसी को हैरानी होगी.

%d bloggers like this: