news21cg

रायपुर। भूपेश कैबिनेट की बैठक में शिक्षाकर्मियों को बड़ी राहत दी गई. मंत्रिपरिषद की मीटिंग में शिक्षक संवर्ग में पदोन्नति के प्रावधान को शिथिल किया गया। इसके साथ ही अब राज्य के शासकीय एवं निजी विद्यालयों की कक्षाओं को संपूर्ण COVID19 प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए शत-प्रतिशत उपस्थिति के साथ खोलने का निर्णय लिया गया.

वहीँ प्रधान पाठक प्राथमिक शाला, शिक्षक एवं व्याख्याता के पदों पर पदोन्नति के लिए विभागीय भर्ती नियमों में प्रावधानित 5 वर्ष के अनुभव को एक बार के लिए शिथिल करते हुए 3 वर्ष के अनुभव के आधार पर पदोन्नति देने का निर्णय लिया गया। इससे संविलियन हुए शिक्षाकर्मियों को जहां उनकी सेवा अवधि का लाभ मिलने से वे पदोन्नत हो सकेंगे वहीं बच्चों को उनके शिक्षकीय अनुभव का लाभ मिलेगा।

सीएम भूपेश बघेल ने राज्य में डीजल पर वैट में 2 फीसदी और पेट्रोल पर 1 फीसदी की कटौती की घोषणा की. वहीं छत्तीसगढ़ सीएमओ के मुताबिक इस फैसले से सरकार को लगभग 1000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा. राजधानी रायपुर में पेट्रोल 101.86 रुपये और डीजल 93.77 रुपये प्रति लीटर के दाम पर बिक रहा है. जबकि पड़ोसी राज्यों में पेट्रोल 95.26 रुपये से लेकर 109.96 रुपये और डीजल 86.80 रु से लेकर 94.61 रुपये प्रति लीटर तक है. ऐसे में प्रदेश सरकार पर भी पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने का दबाव था.

%d bloggers like this: