news21cg

 रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा विवाद अब चरम पर आ गया है। सोमवार को पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन के डोनबास क्षेत्र में रूस समर्थित विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों को मान्यता दे दी है। जिसके बाद दोनों देशों के बीच हालात बिगड़ते जा रहे हैं। यूक्रेन और रूस के बीच तनाव कम करने को लेकर संयुक्त राष्ट्र परिषद की बैठक चल रही है।

 भारतीयों की वापसी यूक्रेन से लौट अधिकतम भारतीय लोग

        एयरलाइन के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर एएनआइ को बताया, यूक्रेन से भारत के लिए संचालित होने वाली तीन में से एयर इंडिया (AI-1946) की पहली विशेष उड़ान आज रात भारतीय लोगो को लेकर दिल्ली के लिए उड़ान भरेगी। एयर इंडिया की एक फ्लाइट स्वदेश लौटने वाले इंडियन लोगो  को वापस लेने के लिए सोमवार को यूक्रेन के लिए उड़न भरेगी |

एयर इंडिया ने पहले ही ऐलान कर दिया था

       एयर इंडिया ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि यूक्रेन से भारत के लिए कुल तीन उड़ानें यूक्रेन में युद्ध की स्थिति के दौरान छात्रों सहित भारतीय लोगो के लिए संचालित होंगी। एयर इंडिया ने कहा, भारत और यूक्रेन के बीच 22, 24 और 26 फरवरी को एयर एंडिया तीन उड़ानें संचालित कर रही है। एयर इंडिया का एआई 1947 विमान आज सुबह 7:40 पर दिल्ली से कीव बारिस्पिल इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए निकला है। इसकी क्षमता 200 से अधिक सीटों की है। एक अधिकारी ने एएनआई को बताया, एक ड्रीमलाइनर बोइंग बी-787 ने सुबह यूक्रेन के लिए दिल्ली हवाई अड्डे से उड़ान भरी है।

यूक्रेन से वापस आएंगे भारतीय

      भारतीय लोगो को वापस लाने के लिए एयर इंडिया का विशेष विमान आज सुबह भारत से यूक्रेन के लिए निकाले गए। ड्रीमलाइनर बी-787 विमान में 200 से अधिक सीटों की क्षमता है। यूक्रेन से विशेष विमान आज रात दिल्ली  लौटके आएंगे |

अमेरिकी विदेश मंत्री ने की चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात

       अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने आज चीन के स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी के साथ डीपीआरके में विकास और यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामकता के बारे में बात की। उन्होंने यूक्रेन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को बनाए रखने की आवश्यकता पर जोर दिया।

यूक्रेन के राजदूत सर्गेई का बयान

           

संयुक्त राष्ट्र में यूक्रेन के राजदूत सर्गेई काइस्लात्सिया ने कहा, आज संयुक्त राष्ट्र संघ की पूरी सदस्यता पर हमले हो रहे हैं, 1991 में संयुक्त राष्ट्र चार्टर को दरकिनार करते हुए सुरक्षा परिषद की सदस्यता पर कब्जा करने वाले देश द्वारा हमला किया जा रहा है, जिसने 2014 में यूक्रेन के कुछ हिस्सों पर कब्जा किया था। हम रूस से वार्ता के लिए मेज पर लौटने की मांग करते हैं। हम यूक्रेन के क्षेत्रों में अतिरिक्त रूसी कब्जे वाले सैनिकों को तैनात करने के आदेश की निंदा करते हैं। हम कब्जे वाले सैनिकों की तत्काल और पूर्ण सत्यापन योग्य वापसी की मांग करते हैं।

%d bloggers like this: